Call +91 9306096828

बहुत कम लोग इस बात पर ध्यान देते हैं की शादी के बाद उनके घर का माहौल कैसा हो। लड़का हो या लड़की यह दोनों के लिए महत्वपूर्ण है कि शादी के बाद 2 परिवारों के भीतर सामंजस्य बनाए कैसे रखना है। 

GuruVedic Predictions

 

Verification

शादी के बाद परिवार का माहौल कैसा होगा

होता यह है कि आपको शादी करने के लिए एक योग्य जीवनसाथी चाहिए अधिकतर लोग यह सोचते हैं कि उनका जीवनसाथी सुंदर और शिक्षित हो तो इतना काफी है परंतु परिवार और घर के माहौल पर बहुत कम लोग ध्यान देते हैं। 

परिवार का माहौल दांपत्य जीवन तो संवार सकता है या नष्ट कर सकता है। भारतीय समाज में लड़की शादी के बाद अपने पति के घर में रहती है इसलिए पति का घर एक नई लड़की के लिए ऐसा नहीं होना चाहिए कि उसे हर तरह से एडजस्ट करना पड़े। जिन परिवारों में परिपक्व सोच होती है वे लोग इन छोटी बातों पर अधिक ध्यान देते हैं। परंतु दुर्भाग्य से सभी लोगों की सोच एक जैसी नहीं होती।

प्रेम विवाह और परिवार की सहमति

कभी-कभी लव मैरिज के चक्कर में युवा लोग यह भूल जाते हैं कि शादी के बाद आपस में तो जैसे कैसे मैनेज हो जाएगा परंतु दोनों परिवारों के बीच सब कुछ कैसे सामान्य होगा यह एक जुआ खेलने जैसा रिस्क है।

अधिकतर लव मैरिज के मामलों में होता यह है कि लड़का और लड़की दोनों ने उम्मीद की थी कि परिवार उन्हें स्वीकार कर लेंगे परंतु कई साल बीत जाने के बाद भी लोग भूलते नहीं हैं बल्कि दूरियां समय के साथ और बढ़ती चली जाती हैं लोग एक दूसरे के बिना जीना सीख लेते हैं।

यहां सभी प्रकार की संभावनाएं नष्ट होती देखी गई है। हमारा काम ज्योतिष का है हम अनेक लोगों की कुंडली देखते हैं और लोगों की समस्याएं सुनते सुनते हमें इतना अनुभव हो जाता है कि अधिकतर लोगों की समस्या क्या है। इसलिए यह मायने रखता है की अनुभवी ज्योतिषी से सलाह ली जाए।.

GuruVedic Predictions

 

Verification

ज्योतिष के अनुसार आपके परिवार का माहौल नौ ग्रहों के अनुसार

  • कुंडली के दूसरे घर मे यदि सूर्य हो तो व्यक्ति के घर का माहौल शाही होता है और वहाँ पर पुराने रीति रिवाजों के लिए कोई जगह नहीं होती। यह सभ्य और शिक्षित परिवार सूर्य के कारण प्रसिद्ध होता है।
  • चंद्रमा यदि दूसरे घर मे हो तो जैसे जैसे जातक बड़ा होता है उसका परिवार सम्पन्न होता चला जाता है । घर का माहौल खुशनुमा होता है परंतु बहुत मामूली बातों पर परिवार के सदस्य आपस मे लड़ते रहते हैं। फिर भी घर का माहौल खुशनुमा होता है।
  • मंगल यदि दूसरे घर मे हो तो जातक के घर का माहौल शांत नहीं होता। यह स्थिति और खराब हो जाती है यदि राहू, शनि या केतू भी यहाँ मौजूद हों या उन ग्रहों का प्रभाव दूसरे घर पर हो ।
  • बुध दूसरे घर मे हो तो जातक का परिवार स्वार्थी लोगों से परिपूर्ण होता है।
  • गुरु यदि दूसरे घर मे हो तो जातक अच्छे पढे लिखे घर का होता है । घर का माहौल शांत और संभ्रांत होता है।
  • शुक्र दूसरे घर मे हो तो व्यक्ति के घर का वातावरन काफी एडवांस होता है। नए विचारों की झलक घर के इंटीरियर पर साफ दिखाई देता है।
  • शनि दूसरे घर का हो तो जातक का परिवार पिछड़े खयालात और पुराने विचारों का होता है। उस घर मे काफी बन्दिशें होती हैं।
  • राहू दूसरे घर मे हो तो जातक के परिवार का माहौल जैसा दिखाई देगा वैसा बिलकुल नहीं होगा।
  • केतू दूसरे घर मे हो तो व्यक्ति के घर मे भूत पिशाच या ओपरी शक्तियों का वास होता है।

एक से अधिक ग्रहों के दूसरे घर पर होने का फल अलग अलग होता है। फिर भी किसी व्यक्ति की कुंडली देखकर आसानी से पता लगाया जा सकता है कि उसके घर का वातावरण कैसा होगा।

लोग आपके घर के माहौल को सीरियसली लेते हैं

जन्म कुंडली का दूसरा घर आपके घर के वातावरण को दर्शाता है। जो लोग यह समझते हैं कि हम अपने घर में चाहे जैसे भी रहे परंतु हमारे कार्य कलाप से और कुछ दिनों के अभिनय से कोई हमें हमारे घर के खराब माहौल के लिए पहचान नहीं पाएगा। यह एक बड़ी गलतफहमी है। जो आपकी कुंडली का दूसरा घर देखकर हम दूर कर सकते हैं।

GuruVedic Predictions

 

Verification

ज्योतिष की सहायता लें

महत्वपूर्ण यह है कि आप शादी करने जा रहे हैं तो अपने भविष्य के प्रति आपको सावधान रहना चाहिए यदि कुछ ऐसा है जो नहीं होना चाहिए तो उसका पता लगाकर उसका उपाय किया जा सकता है। सामान्य उपायों से हम भविष्य की रूपरेखा तय कर सकते हैं निश्चित तौर पर आपके भावी परिवार को सुख में बनाने के उपाय होते हैं क्योंकि आपको यह पहले से करने होंगे इसलिए इसमें डेयरी की गुंजाइश नहीं है।

Read in English

शादी की भविष्यवाणी आपकी कुंडली के अनुसार।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *