Call +91 9306096828

इस मंत्र को हमने बड़े ही सरल और सुंदर तरीके से पेश किया है भले ही आप का ध्यान इस और ना जाए परंतु आपको वीडियो में केवल प्लेन स्क्रीन पर एक मंत्र लिखा दिखाई देगा और वीडियो में लगातार चल रहा यह मंत्र सुनाई देगा। इसका बहुत अधिक महत्व है क्योंकि आप सारी चिंताएं भूल कर दुनियादारी को बुलाकर अपने मन को खाली स्क्रीन बनाकर कुछ अफसरों पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं यही वह अक्सर हैं जो चमत्कारी रूप से आपके शरीर में प्रवेश कर जाएंगे। विश्वास पैदा करना पड़ता है और भक्ति अपने आप आ जाती है।

मंत्र को शुरू करने के पश्चात कुछ ही समय में आपको परिवर्तन महसूस होगा। यह मंत्र आपके मस्तिष्क में बार-बार गूंजने लगेगा जिससे आपके भीतर मंगल ग्रह की कमी को पूरा करेगा। इस कमी को पूरा करते ही आप विलक्षण ऊर्जा का अनुभव करेंगे। इन्हीं अक्षरों के भीतर सारा रहस्य है इसलिए एकाग्र चित्त होकर इस मंत्र को केवल सुने और आपको कुछ नहीं करना है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे टीवी स्क्रीन पर सुने या कानों में हैंड फ्री लगाकर। आप सफर कर रहे हैं तो रास्ते में इस मंत्र को कानों में लगाकर छोड़ दीजिए और मंत्र के अक्षरों पर ध्यान केंद्रित कीजिए। कुछ ही दिनों में आपको इसका गहरा असर अपने जीवन में दिखाई देगा।

जब आपको यह मंत्र अच्छी तरह से याद हो जाए और आप ठीक उच्चारण सीख जाएं तब इसे आप आसन पर बैठकर भी कर सकते हैं। यदि आपको लगता है कि मंत्र आसन पर बैठकर अधिक फायदा देगा तो आप इसे आसन पर बैठकर ही करें। एक आसन बिछाकर उस पर बैठ जाइए और दीपक की लौ पर अपना ध्यान केंद्रित करिए।

एक दो मिनट दीपक की रोशनी को बीचो-बीच देखते रहिए इससे आपका मन शांत हो जाएगा और फालतू के विचार दिमाग से निकल जाएंगे। मन शांत होते ही तीन माला का जाप कीजिए। मंगल के मंत्र से आपके जीवन में अनेक प्रकार के परिवर्तन होने शुरू हो जाएंगे।

जन्म कुंडली के अनुसार मंगल जिस राशि स्थान में बैठा है उससे संबंधित लाभ तो देगा ही बल्कि मंगल मंत्र के दूसरे अनेक फायदे और भी हैं।

तीन माला प्रतिदिन के हिसाब से 40 दिन जब हो जाएंगे तब आपको आलस्य आना बंद हो जाएगा। सुस्ती दूर हो जाएगी और आप थकेंगे नहीं। एक अलग प्रकार की ऊर्जा आपके शरीर में उत्पन्न हो जाएगी क्योंकि आपके और आप में मंगल की ऊर्जा प्रवेश कर चुकी है।

आपको किसी भी चीज से डर नहीं लगेगा। भविष्य की चिंता नहीं होगी बल्कि आपकी चिंताएं अपने आप दूर होने लगेंगी। क्रोध नहीं आएगा और आप मन में प्रसन्नता का अनुभव करेंगे। शुभ कार्यों में आपकी रुचि और बढ़ेगी हर काम को शीघ्रता से करने की प्रवृत्ति उत्पन्न होगी। आप जिस काम को हाथ में ले लेंगे उसे पूरा करके ही छोड़ेंगे। इस मंत्र से स्वास्थ्य में सुधार आना भी शुरू हो जाएगा।

सुखी दांपत्य जीवन के लिए मंगल का मंत्र बेहद जरूरी है स्त्रियों के लिए इस मंत्र से बढ़कर कोई अन्य मंत्र नहीं है जो उन्हें पति से सुख दिला सके। जिन्हें अपने विवाह की चिंता है वह इस मंत्र को अवश्य करें और जिनके भाई या बहन की वजह से शादी में देरी हो रही है उनको इस मंत्र तो एक बार प्रयोग जरूर करना चाहिए। 40 दिन के पश्चात भी यदि आप चाहें तो मंत्र को जारी रख सकते हैं।

Categories: Mantras

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *