Call +91 9306096828

आज लोहड़ी का त्योहार है यह मकर संक्रांति (14.01.2022) से एक दिन पहले मनाया जाता है । लोहड़ी अच्छी फ़सल होने की ख़ुशी में मनाया जाता है । इस दिन अग्नि में तिल, गुड़, गजक, रेवड़ी और मूंगफली चढ़ाई जाती हैं । रात में परिवार और सगे संबंधी मिलकर अग्नि के सामने पूजा करने के बाद भोजन और नाच – गाना करते हैं  नाच गाने में सुंदर – मुंदरिए का मशहूर गीत गाया जाता है । इस गीत के पीछे छिपी ‘दुल्ला भट्टी’ की लोककथा सुनने का ख़ास महत्त्व होता है । मान्यता है कि पुराने समय में ‘दुल्ला भट्टी’ नाम का एक शख्स पंजाब में रहता था, कुछ व्यापारी सामान की जगह शहर की लड़कियों की खरीद – फरोख्त करते थे, तब दुल्ला भट्टी ने सुंदरी नाम की एक ऐसी ही कन्या की जान बचाकर उसकी शादी रात – रात में ही एक अच्छे व्यक्ति से करवा दी । दान दहेज़ में केवल तिल, गुड़, गजक, रेवड़ी और मूंगफली चढ़ाई, तब से हर साल लोहड़ी के दिन दुल्ला भट्टी की याद में उनकी कहानी सुनाने की पंरापरा चली आ रही है ।

GuruVedic Predictions

 

Verification


नवविवाहित दम्पति और संतान के जन्म के बाद पहली लोहड़ी बहुत धूमधाम से मनाने की मान्यता सदियों से चली आ रही है ।

लोहड़ी पर ये 4 काम जरूर करें :-

1. सुख-समृद्धि पाने के लिए महादेवी पर रेवड़ियाँ चढ़ाएँ बाद में कन्याओं में बाँटे ।

2. गरीबों व्यक्ति को गुड़ और तिल का दान करने से सौभाग्य प्राप्त होगा । 

3. काली गाय को उड़द की दाल और चावल खिलाने से पारिवारिक क्लेश से मुक्ति मिलती है ।

4. लाल कपड़े मेंगेहूँ बाँधकर किसी पंडित को देने से आर्थिक समस्याएँ दूर होती हैं ।

GuruVedic Predictions

 

Verification


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *