Call +91 9306096828

कुंडली के आठवें घर से मृत्यु या आयु का विचार किया जाता है परंतु क्या आप जानते हैं हायर स्टडीज गुप्त विद्याओं में रुचि तंत्र मंत्र औकात यह सब कुछ कुंडली के आठवें घर से जुड़ा है।

जन्म कुंडली का आठवां घर यूं तो मृत्यु का स्थान माना जाता है परंतु कुंडली के इसी आठवें घर से अनेक प्रकार की रहस्यमई बातें निकल कर सामने आती हैं जिन्हें शायद ही आपने कहीं पढ़ा होगा। कुंडली का आठवां घर सबसे अधिक रहस्यमय स्थान है। कुंडली में यही एक ऐसा स्थान है जिसके बारे में हर एक ज्योतिषी बहुत कम जानता है। फिर भी अपने अल्प ज्ञान से मैं उन बातों का जिक्र करूंगा जिन्हें आप अभी तक नहीं जानते थे। मेरा ऐसा विश्वास है कि इससे आपका ज्ञान बढ़ेगा और ज्योतिष के प्रति आपकी रूचि और बढ़ जाएगी।

GuruVedic Predictions

 

Verification

आपके जीवन के प्रत्येक वो रहस्य जो आप जानना चाहते हैं वह सब कुंडली के किसी स्थान से जुड़े हैं उनके नाम कुंडली के आठवें घर में जो ग्रह होता है वह अपने से संबंधित सब्जेक्ट में आपको गहरी शिक्षा देता है। यदि आप रिसर्च करना चाहते हैं पीएचडी करना चाहते हैं तो कुंडली का आठवां घर पूर्ण रूप से बलवान होना चाहिए अन्यथा आपकी पीएचडी पूरी नहीं हो पाएगी या उसके पश्चात आपको कोई लाभ नहीं होगा।

कुंडली का आठवां घर भूख के लिए भी जाना जाता है चाहे वह भूख इंद्रियों की हो या फिर भौतिक वस्तुओं की।

आठवां घर ससुराल के लिए महत्वपूर्ण है अर्थात ससुराल के विषय में कुंडली के आठवें घर से ही पता चलता है परंतु क्या आप जानते थे कि आपके जीवनसाथी का अर्जित धन उसका कमाया धन भी कुंडली के आठवें घर से ही देखते हैं। कुंडली के आठवें घर से विदेश यात्राओं का भी पता चलता है जो आप विदेश से अन्यत्र कहीं स्थान पर करते हैं। एक देश से दूसरे देश की यात्रा का विचार कुंडली के आठवें घर से किया जाता है। मृत्यु के कारण का पता कुंडली के इसी स्थान से चलता है बुढ़ापा आपदा हादसा एक्सीडेंट मूत्र रोग खाई में गिरना छत से गिरना बेसमेंट तिजोरी गड़ा धन यह सब कुंडली के आठवें घर से देखा जाता है आपके जीवन के वह गुप्त रहस्य जो आपको अत्यंत कष्ट ग्रहण करने पर ही प्राप्त होते हैं कुंडली के आठवें घर से देखे जाते हैं। आपके पुत्र द्वारा बनाया मकान या पुत्र की अचल संपत्ति कुंडली के आठवें घर से देखी जाती है। ज्योतिष तंत्र मंत्र टोने टोटके से संबंधित जानकारी कुंडली के आठवें घर से ही मिलती है। 

कैसे पता लगाएं कि आपके ऊपर किसी ने जादू टोना किया है

प्रश्न कुंडली में सबसे पहले यह देखें कि कुंडली के आठवें घर में ग्रहों की स्थिति क्या है यदि प्रश्न कुंडली में आठवें घर में कोई ना कोई ग्रह हो तो अवश्य ही जादू टोना आदि का प्रयोग हुआ है ऐसा समझना चाहिए। परंतु यदि कुंडली के आठवें घर में केतु की स्थिति हो तो वर्तमान में भी जातक पर जादू टोने का असर है ऐसा समझना चाहिए राहु और केतु की स्थिति ना केवल आठ में बल्कि 12 में या चौथे घर में हो तो भी जादू टोने का असर जातक पर वर्तमान में है ऐसा समझना चाहिए।

GuruVedic Predictions

 

Verification

भाई आप समझते हैं सूर्य आदि नौ ग्रहों का कुंडली के आठवें घर में क्या असर रहता है

सबसे पहले सूर्य कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को पिता का सुख नहीं मिलता है यदि मिलता भी है तो पित्ताशय प्रेम नहीं रहेगा ऐसा समझना चाहिए। जातक के सिर के बाल जल्दी झड़ जाते हैं और बालों की समस्या जातक को बनी रहती है।

चंद्रमा यदि कुंडली के आठवें घर में शिफ्ट हो तो जातक को विदेश में कष्ट भुगतने पड़ते हैं और जातक को इस जन्म में माता की ओर से कष्ट उठाना पड़ता है।

मंगल यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक के एक्सीडेंट बहुत होते हैं सर्जरी ऑपरेशन और चोट आदि  बार-बार जीवन में घटित होते रहते हैं।

GuruVedic Predictions

 

Verification

बुध यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को विदेशों में भटकता है और उन्हें स्वदेश जातक लौट आता है विदेश से कोई लाभ नहीं होता।

गुरु यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को पेट की बीमारियां छाई रहती है परंतु जातक के विदेशों में मकान और संपत्ति होती है।

शुक्र यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को मालामाल कर देता है। आठवें घर का शुक्र जातक को पूर्व जन्म में किए गए धर्म कर्म आदि के फल के रूप में मिलता है।

शनि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक की उम्र लंबी होती है परंतु असाध्य रोग भी जातक को रहता है। रोग के कारण जातक की मृत्यु नहीं होती पूरी जिंदगी पेट का कोई ना कोई रोग जातक को होता है।

राहु यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को घर परिवार से अलग कर देता है तथा जातक जहां रहता है वहां कल है लड़ाई झगड़ा झंझट बना रहता है। विदेशों में जातक को भड़काता है और किसी एक जगह जातक स्थाई पते पर नहीं रह पाता।

केतु यदि कुंडली के आठवें घर में विराजमान हो तो जातक को घर से दूर ले जाती है और परिवार सजा तक अलग हो जाता है। इसके अतिरिक्त जातक के घर में जादू टोने आदि का प्रकोप बना रहता है। जातक अनेक गूढ़ विद्याओं का ज्ञाता होता है।

GuruVedic Predictions

 

Verification

यदि कुंडली के आठवें घर को गौर से देखा जाए तो यह भी पता लगाया जा सकता है कि आपको किस देवी देवता की पूजा करने पर सिद्धि प्राप्त होगी इसके अतिरिक्त कुंडली का आठवां घर उन प्रश्नों के भी उत्तर इंसान को दे सकता है जो दूसरी दुनिया से जुड़े हैं। कुंडली का आठवां घर वह स्थान है जो हमें एक रहस्यमय संसार से जोड़ता है। आपके आसपास जो भी कुछ विचित्र है जो भी चीजें रहस्यम आए हैं आपके शत्रु की कमजोरी और आपके प्रतिद्वंद्वियों की वह दुखती रग जो आपको पता होनी चाहिए कुंडली के आठवें घर से पता लग सकती है। कुंडली के आठवें घर के संबंध में ज्योतिषियों को रिसर्च करनी चाहिए। फिलहाल इस पोस्ट में इतना ही।

यदि पोस्ट अच्छी लगी हो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करें।

Read in English


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *